कटिहार सितम्बर २०१७ (Katihar September 2017)

September 2017 Katihar Mirror Cover
September 2017 Katihar Mirror Cover
September 2017 Katihar Mirror Cover

Feature News

  • Katihar तीन पुलिस अधिकारी हुए निलंबितपुलिस अधीक्षक डा. एस एम जैन ने  मनसाही थानाध्यक्ष सहित तीन पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। इसमें थानाध्यक्ष के साथ मनसाही थाना के एक अन्य एएसआइ भी शामिल हैं। इसके अलावा मुफस्सिल थाना के एक अन् [...]

  • Katihar किसने खोदे कटिहार में बीस हज़ार सतासी गड्ढे ?कटिहार: १९ नवम्बर को विश्व शौचालय दिवस पर पूरे जिले २००८७ गड्ढे खोदे गये| जी हाँ  बीस हज़ार सतासी गड्ढे खोदे गये|  अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की अगुवाई में कुल 20087 गडढे खोदे गए। और तो और  शुरुआत  खु [...]

  • katihar बेटी और पत्नी को सोते हुए जलाने वाले को मिली उम्रकैदकटिहार : अवैध संबंधो की और शराब के नशे की लत में सालो पहले अपनी ही बेटी और पत्नी को जला डालने वाला  शुक्रवार को अपनी करनी का फल पा गया|| पत्नी व पुत्री को जलाकर हत्या करने वाले  दिलीप पासवान को जिला ए [...]

  • Katihar News सिनेयात्रा फिल्म महोत्सव का हुआ समापनKatihar : कटिहार के  टाउन हॉल में  तीन दिवसीय सिनेयात्रा बाल फिल्म महोत्सव का गुरुवार को समापन हुआ|इस समारोह में आखिरी दिन बच्चों को उड़न छू व लिलकी फिल्म दिखाई गई। विधायक तारकिशोर प्रसाद, पूर्णिया रें [...]

  • Katihar कटिहार में १८ को होगाहिंदी चलचित्र  पद्मावती का विरोधकटिहार: कटिहार में होगा हिंदी चलचित्र पद्मावती का विरोध| १८ नवम्बर को महाराणा प्रताप सेवा परिषद द्वारा पद्मावती फिल्म में आपत्तिजनक दृश्यों के विरोध में निर्देशक संजय लीला भंसाली का पुतला जलाया जायेगा [...]

कटिहार : सितम्बर २०१७ 
पिछले महीने आई बाढ़ की विभीषिका देखी| बाढ़ में धर्म जाति जात पात से ऊपर उठकर लोगो को एक दुसरे के काम आते देखा|

बाढ़ ने ज़िन्दगी की रफ़्तार कम कर दी थी| ट्रेन के पहिये भी घूमने से कतरा रहे थे| जो जहाँ था वही फंस गया था|पर हर आने वाली चीज़ जाती भी है| बाढ़ गयी तो अपने पीछे सूखते सड़ते कचरे को छोड़ गयी|कुछ घर की छत बाढ़ ले गयी थी , कुछ आँगन के चिराग बुझा गयी थी| खेतो और आँगन का पानी तो सूख गया पर आँखों का पानी सुखाये नहीं सूख रहा था|



अगस्त  के महीने में चोटी काटने की घटना बदने लगी थी |अचानक सोई महिलाओं की चोटिया काटने लगी| कीड़े का कारनामा था | कहने वाले कहते है कि चीन ने छोड़े थे ये बालकाटू मैकी कीड़े| पर बाढ़ आते आते आते ये कीड़ो वाली घटनाये भी  कही बह गयी|








जाते जाते अगस्त के महीने में गणपति भी आये| बाढ़ में उत्साह थोडा कम ज़रूर किया पर फिर भी साल में एक बार आने वाले गणपति को लोगो ने खूब प्यार दिया|



    सितम्बर की शुरुआत हुई त्याग और बलिदान के त्यौहार बकरीद से|

मुरलीगंज की घटना ने कोशी के सभी जिलो की रफ़्तार एक बार फिर कम कर दी थी| कुछ असामाजिक तत्वों की हरकत से पुरे इलाके में तनाव फ़ैल गया था| इस बीच लोगो ने एक बात समझ ली है की तीन दिन तक इन्टरनेट नहीं रहने पर फेस बुक और व्हाट्सएप्प के बिना भी ज़िन्दगी चल सकती है|
सितम्बर महिना बकरीद, ओणम, दुशहरा ,दुर्गा पूजा ,इस्लामिक नया साल भी लेकर आ रहा है| उम्मीद है ये महिना लोगो के जीवन में ख़ुशी लायेगा|

आइये नीचे देखे आज का समाचार 


  
   
 
September 2017 Katihar Mirror Cover

September 2017 Katihar Mirror Cover

©www.katiharmirror.com
Share this page
Skip to toolbar