Monthly Archive: September 2017

आइए जाने कौन है फर्जी बाबा की लिस्ट में शामिल

आइए जाने कौन है फर्जी बाबा की लिस्ट में शामिल

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने लिस्ट जारी कर 14 बाबाओं को फर्जी बताया है|
आशाराम बापू 



असुमल सिरुमालिनी  का जन्म १७ अप्रैल १९४१ में पाकिस्तान में हुआ था|
श्री योग वेदांत सेवा समिति के जन्मदाता है ये बाबा|
2013 से ये नाबालिग शिष्या से रेप के आरोप में जेल में बंद हैं. इनपर आरोप है कि ये आशीर्वाद देने के नाम पर नाबालिग लड़कियों का यौन शोषण और बलात्कार करते थे











राधे मां: ४अप्रैल 1965 में पंजाब के जिले गुरुदासपुर के दोरंगला गांव में जन्मीं सुखविंदर कौर |






इनपर खुदकुशी के लिए उकसाने जैसे गंभीर मामले चल रहे हैं.


















सचिदानंद गिरी: इसचिन दत्ता नोएडा और गाजियाबाद में रियल एस्टेट के साथ बीयर बार-पब जैसे कारोबार से जुड़े थे| आरोप है कि धोखे से निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर बनने का| गुरमीत राम रहीम: १५ अगस्त १९६७नको जन्मे सिरसा के डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सभी जानते हैं|रेप के मामले में सजा मिली है|रेप और हत्या जैसे संगीन इलज़ाम हैं इनपर| ओम बाबा: बिग्ग बॉस से मशहूर हुएओम बाबा भी परिचय के मोहताज नही है| टाडा आर्म्स एक्ट केस के चलते ओमजी स्वामी पांच साल जेल में सजा काट चुके हैं| चोरी ,ठगी जैसे इलज़ाम है इनपर . निर्मल बाबा: इंजिनियर हैं निर्मल बाबा| कृपा समोसा खाने से आ सकती है ऐसा इन्होने सबको समझाया है| आय से अधिक संपत्ति का माला है इनपे| . भीमानंद महाराज: शिव मूरत द्विवेदी इनका असली नाम है| खुद को साईं बाबा का अवतार बताते हैं बाबा| फाइव स्टार होटल में गार्ड थे बाबा| फिर ये कथित बाबा सेक्स रैकेट चलाने और चीटिंग करने के आरोप में जेल जा चुके हैं.| असीमानंद: नब कुमार इनका साली नाम है|1990 अजमेर दरगाह में 2007 में हुए विस्फोट मामले में आरोपी रहे. बृहस्पति गिरि: जालसाजी से अलखनाथ ट्रस्ट के मंदिरों पर अधिकार हासिल करने का इलज़ाम| पूर्व महंत के क़त्ल का आरोप लगा है| नारायण साईं : आशाराम के पुत्र नारायण साईं पर पर यौन शोषण और हत्या के आरोप हैं. रामपाल: रामपाल के खिलाफ देशद्रोह और हत्या का मुकदमा दर्ज है. ओम नम शिवाय बाबा स्वामी असीमानन्द आचार्य कुशमुनी मलखान सिंह नोट: ये लिस्ट भारतीय अखाड़ा परिषद् ने ज़ारी की है| इनमे से सभी पर जुर्म साबित नही हुए हैं| कुछ जेल में है कुछ पर केस चल रहे है| अपने गुरु का चुनाव कृपया अपने विवेक से करे| १४ लोगो के नाम आने से देश के सभी अध्यात्मिक लोग फर्जीवाडा के घेरे में नहीं आते| इनके अलावा भी कई ऐसे गुरु है जो अच्छा काम कर रहे है और देश की अध्यात्मिक प्रगति में मदद कर रहे है|
Share this page
Skip to toolbar