Category: Katihar Issues

एक तो बाढ़ ,ऊपर से लापरवाही

कटिहार जिले के कई प्रखंड मे भीसन बाढ़ तवाही मचा रखा है बाढ़ से जन जीवन आस्त ब्यस्त हो गया है कोसी और महानंदा नदिया बिकराल रूप धारण कर तवाही मचाई हुयी है लोगो को अपने आशियाने को छोड़ कर सडको पर रात गुजारनी पड़ती है और उपर से लगातार वारिस ने लोगो की परेशानी दोगुनी हो जारही है मानो जिंदिगी ठहर सी गयी है वही महानंदा और कोसी के बिकराल रूप के सामने जिंदगी जीने के लिए रोज संघर्स करना पड़ता है छोटे छोटे बच्चे केले के नाव और ट्राम के बने नाव से नदी के पानी से निकल कर घर का सामान खरीदने के लिए के लिए बहार आते है प्रशासन की लापरवाही सरे आम देखि जा सकती है क्यों की जिस नाव पर ग्रामिण और बच्चे घर से बहार निकते है वो कभी भी दुर्घटना का शिकार हो सकते है |
Share this page
Atikraman Hatao katihar अतिक्रमण हटाओ कटिहार

अतिक्रमण अभियान जोरो पर कटिहार में

कटिहार शहर में मंगलवार से ही अतिक्रमण हटाओ अभियान चल रहा है|बुधवार को इसी क्रम में शहर के एमजी रोड, गल्र्सस्कूल रोड इलाकों में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। जगह जगह नापी भी चल रही है| इसके बाद नक्शा तैयार किया जायेगा| कई जगह पर बारिश के करण समस्या का सामना करना पड़ा|पर कार्य निरंतर चलाया जा रहा है| सिर्फ इतना ही नहीं| अब सड़क किनारे गाडी खड़ी कर जाम लगाने पर भी कारवाही होगी|सड़क किनारे दुकान लगाने वालो ya फिर गाडी पार्क करने वालो पर दो हज़ार रूपये का जुर्माना लगेगा|
Share this page
मध्य विद्यालय झब्बुटोला और प्राथमिक बिद्यालय खट्टी टोला में

अमदाबाद में भी गंगा कटाव| एक और विद्यालय खतरे में

कटिहार (कुमार नीरज):लगातार हो रही बारिश से कटिहार में गंगा और कोशी और महानन्दा ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है...। गंगा के लगातार जलस्तर में हो रही लगातार बढ़ोतरी से अमदाबाद और बरारी में कटाव तेजी से जारी है...। पिछले साल भी जिला प्रशासन के लापरवाही से कई स्कूल गंगा गंगा मे बिलीन हो गयी थी इस बार भी कटिहार के मनिहारी और अमदाबाद में कटाव से मध्य विद्यालय झब्बुटोला और प्राथमिक बिद्यालय खट्टी टोला में बच्चों की पढाई बाधित है..। यहाँ गंगा चंद दुरी पर ही है और स्कूल किसी भी समय गंगा नदी में समां सकती है...। लगातार हो रही बारिश ने कटिहार में स्थिति को विकराल बना दिया है...। बच्चों की पढाई बाधित होने के साथ साथ किसानों के खेत गंगा नदी के निशाने पर है...। रोजाना सैकडों एकड जमीन गंगा में समाहित हो रहे है...। परेशान ग्रामीण अपने घर को समेटने में लगे है...और जान बचाकर विस्थापन के दंश को झेलने को विवश है...। घर के साथ साथ बच्चों के शिक्षा के मंदिर के गंगा में चले जाने की पीडा से परेशान है ग्रामीण...। _वहीं शिक्षा विभाग के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों की एक मीटिंग बुलाई गयी है ,और जो भी स्कूल सैलाब में डूब जाएंगे उसके लिए दूसरे स्कूलों में पढाई के इंतजाम की व्य्वस्था की जायेगी ,बच्चों की पढाई पर सैलाब को बाधा नहीं बनने दिया जाएगा...। मालूम हो कि पिछले वर्ष भी उत्कर्मित मध्य विद्यालय केवाला सैलाब में विलीन हो गया था...। वहीँ किसानों के कई एकड़ में लगी फसल तबाह हो गए हैं ,और कई मवेशी सैलाब में बह गए है ,सैलाब के पानी की रोक थाम के लिए कई अधिकारी मौके पर केम्प किये हुए हैं। कटिहार में लोग हरेक साल बाढ और कटाव को झेलते है...। कभी गंगा तो कभी कोशी और कभी महानन्दा नदी लोगों को बेघर करती है...और लोगो विस्थापित जीवन गुजारने को विवश होते है...। लेकिन आज तक कटाब और बाढ पर नियंत्रम के ठोस उपाय नहीं हो सके...जिसके लिए पहल करने की जरुरत है..।




Share this page

गंगा का कटाव चिंताजनक | बेघर हुई कई परिवार

कटिहार :(कुमार नीरज ):गंगा नदी का प्रकोप कटिहार में शुरु हो गयी है। गंगा नदी की प्रचंड धारा रोजाना अपने आगोश में जमीन को ले रही है। साथ ही बेजुबान इसके चपेट में आ रहे है। बरारी के कान्त नगर गांव में करीब सात किलोंमीटर में कटाव तेज है,जिसमें अबतक 40 परिवार के घर विलीन हो गये है। पीडित ग्रामीण अपने संसाधन से अपनी मदद में जुटे है और प्रशासनिक मदद की गुहार लगा रहे है।वहीं ग्रामीण जनप्रतिनिधि की सूचना पर अंचल के कर्मी घटना स्थल का मुआयना किया है। गंगा नदी के प्रचंड धारा से ग्रामीण परेशान है। बरारी प्रखंड के कांनता नगर में पिछले तीन दिनों से भंयकर कटाव जारी है जिसमें अबतक 40 परिवारों के घर ध्वस्त हो गये है। पीडित परिवार सुरक्षित स्थान पर शरण लिये हुए है। एकाएक शुरु हुए तेज कटाव के कारण भागते कई लोग गायल हुए है ,तो अपनी जान बचाने के चिन्ता में |किसानों के सैकडों मवेशी गंगा नदी में बह गये है। गांव में मचे कोहराम के बाद स्थानीय जनप्रतिनिधि की सूचना पर अंचल के कर्मी ने कटाव पीडित गांव का भ्रमण कर पीडितों की सूची को बनाया है। पीडित ग्रामीमों की सूची में अबतक 40 परिवारों को बेघर होने की बात बतायी जा रही है। वहीं प्रखंड आपदा पदाधिकारी ने जिला को सूचित करने की बात कहीं। कटिहार में हरेक साल इस समय गंगा का प्रकोप होता है जिससे सैकडों परिवार प्रतिवर्ष बेघर के होकर विस्थापित का जीवन गुजारने को विवश होते है|लेकिन कटाव का आज तक कोई स्थायी समाधान नहीं हो सका है। जिला प्रशासन से लेकर सरकारे कटाव के स्थायी निदान करने की बात तो करती है ,लेकिन परिणाम वहीं का वहीं रह जाता है। ऐसे में कटाव और विस्थापन का स्थायी निदान निकालने की जरुरत है|



Click here to Reply or Forward
Share this page
Shahid Chauk katihar

कटिहार में अतिक्रमण हटाओ अभियान आज से शुरू

कटिहार में शहर के लगभग सभी इलाको में जाम की समस्या आम हो गयी है|बस स्टैंड के स्थानांतरण के बाद भी जाम से निजात नहीं मिल पाई है|इसके कई कारणों में से अतिक्रमण एक प्रमुख समस्या है |इसके मद्देनज़र प्रशासन नै 19 से 23 जुलाई तक शहर के अलग अलग इलाको में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलने की मुहीम शुरू की है | इसके तहत शिवमंदिर चौक से दौलत राम चौक शहीद चौक से पानी टंकी चौक शहीद चौक से बाटा चौक बाटा चौक से दुर्गा स्थान चौक गर्ल्स स्कूल रोड आदि स्थानों पर अतिक्रमण हटाने को लेकर मुहीम की शुरुआत हुई है| इसके अलावा जाम का कारण लोगो में ट्रैफिक कदाचार की कमी भी है | यत्र तत्र पार्किंग भी एक गहन समस्या है |
Share this page
bijay singh meets nitish kumar

शहर के भूगर्भ नालो का होगा विस्तारीकरण | मेयर ने मुख्यमंत्री से बात की

कटिहार :कटिहार नगर निगम के मेयर विजय सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पटना में मिले। मेयर ने मुख्यमंत्री को कटिहार की समस्याओं से के बारे में बताया|खासकर बारिश के समय में जल जमाव की समस्या के बारे में बात हुई | भूगर्व नालो के विस्तारीकरण के लिए उन्होंने मुख्यमंती से मदद की बात की| मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने उन्हें मदद का आश्वासन दिया| साथ ही उन्होंने मेयर बिजय सिंह को मेयर बनने पर बधाई दी और निकट भविष्य में कटिहार आने की बात भी कही| मेयर के साथ वार्डसंख्या 32 के निगम पार्षद कमल दास व जदयू प्रवक्ता राजकुमार गुप्ता उपस्थित थे।
Share this page
kursela Ayodya Prasad ucc vidyalaya

कुर्सेला : खेल मैदान में अतिक्रमण ( जनता की समस्या)

कुर्सेला : अयोद्या प्रसाद उचक विद्यालय के क्रीडा मैदान में अतिक्रमण की समस्या से वह के युवा काफी परेशान है|जहाँ पर युवा नित्य खेल कूद और व्यायाम करते थे वहां पर अब भैसों का तबेला नज़र आ रहा है| व्यक्तिगत इस्तेमाल होने की वजह से जनता इसका प्रयोग नहीं कर प् रही है| कुर्सेला से हमारे पाठक अभिमन्यु ने वहा की इस समस्या से हमें अवगत कराया | स्थानीय प्रशासन इस पर कृपया ध्यान दे और उचित कारवाही करे| [caption id="attachment_2483" align="aligncenter" width="482"]कुर्सेला ओपन लैटर कुर्सेला ओपन लैटर [/caption] आप भी अपनी समस्याएं हमें 8877994811 पर whatsapp कर सकते हैं |
Share this page
Skip to toolbar