Tagged: छठ

लोकआस्था के पर्व पर उमड़ी श्रधालुओं की भीड़

प्रचीन मान्यता है कि जो गंगा कि धारा उत्तर से दक्षिण कि और बहती है उसे उत्रायनी गंगा कहते है.और इस गंगा मे जो स्नान करता है उसके सारे पाप और कष्ट से मुक्ति मिल जाती है ऐसा लोगों कि मान्यता है. (more…)
Share this page

Katihar News : छठ के गंगास्नान के गंगा घाट पर भीड़

बिहार में आस्था का पर्व छठ मनाने की तैयारिया जोरो पर है| आज नहाय खाय मनाया जा रहा है |आज के दिन लोगो में कद्दू बाँट कर लोग गंगा स्नान करके इस पर्व को मानते है| लोकआस्था का महापर्व को लेकर गंगा स्नान के लिए लगा लोगों का ताता लगा | छठ पूजा को लेकर शहर में काफी चहल पहल देखी जा रही है। छठ पूजा लोक आस्था का महापर्व माना जाता है। इस बीच महिला एवं पुरुष व्रतियों का गंगा स्नान के लिए गंगा में ताता लगा हुआ है। व्रतियों की अधिकतम संख्या ट्रेनों पर भी देखी जा रही है। सीमांचल के सर्वाधिक छठ व्रति विक्रमशिला सेतु भागलपुर बरारी में गंगा स्नान में भाग लेने के लिए शनिवार को जमकर उपस्थित हुए।chhath
छठ पर्व को लेकर गंगा स्नान करने की परंपरा वर्षों से चलती आ रही है और इसी परंपरा को हिंदू धर्म के लोग आज भी अपनाते जा रहे हैं। अहले सुबह से शाम तक चीटियों की भांति धर्मारथी घाट की ओर जाते और लौटते दिखे। पूर्णिया, भागलपुर, कतिहार से विभिन्न स्थान पर जाने वाले यात्री वाहन जीरोमाइल भागलपुर से लेकर विक्रमशिला सेतु एवं हाई लेवल में फस गया। कल गंगा स्नान के इरादे से आए व्यक्तियों को विक्रमशिला सेतु मजबूरी में पैदल ही पार करना पड़ा।
छठ व्यक्तियों की अधिकतम संख्या कटिहार रेलवे स्टेशन के अलावा कोढ़ा, फुलवरिया चौक, बरारी एवं कुर्सेला में ट्राली पर लदे श्रद्धालुओं की भीड़ गंगा तट की ओर बढ़ती देखी गई। भीड़ तो इतनी थी जैसे चीटियां चल रही हो। कल दिनांक 14 नवंबर को दो से ढाई लाख की भीड़ देखी गई जिन्होने गंगा में डुबकी लगाई।
Share this page
Skip to toolbar