Tagged: Culture

Coconut

महिलाओ को कभी नहीं फोड़ती चाहिए नारियल

नारियल को श्रीफल के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है की जब भगवान विष्णु ने पृथ्वी पर अवतार लिया तो वे अपने साथ तीन चीजें- लक्ष्मी, नारियल का वृक्ष तथा कामधेनु लाए इसलिए नारियल के वृक्ष को श्रीफल भी कहा जाता है। श्री का अर्थ है लक्ष्मी अर्थात नारियल लक्ष्मी व विष्णु का फल। नारियल में त्रिदेव अर्थात ब्रह्मा, विष्णु और महेश का वास माना गया है। श्रीफल भगवान शिव का परम प्रिय फल है। मान्यता अनुसार नारियल में बनी तीन आंखों को त्रिनेत्र के रूप में देखा जाता है। श्रीफल खाने से शारीरिक दुर्बलता दूर होती है। इष्ट को नारियल चढ़ाने से धन संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं। [caption id="attachment_1133" align="alignright" width="300"]Coconut Coconut[/caption]
भारतीय पूजन पद्धति में नारियल अर्थात श्रीफल का महत्वपूर्ण स्थान है। कोई भी वैदिक या दैविक पूजन प्रणाली श्रीफल के बलिदान के बिना अधूरी मानी जाती है। यह भी एक तथ्य है कि महिलाएं नारियल नहीं फोड़तीं। श्रीफल बीज रूप है, इसलिए इसे उत्पादन अर्थात प्रजनन का कारक माना जाता है। श्रीफल को प्रजनन क्षमता से जोड़ा गया है। स्त्रियों बीज रूप से ही शिशु को जन्म देती हैं और इसलिए नारी के लिए बीज रूपी नारियल को फोड़ना अशुभ माना गया है। देवी-देवताओं को श्रीफल चढ़ाने के बाद पुरुष ही इसे फोड़ते हैं। शनि की शांति हेतु नारियल के जल से शिवलिंग पर रुद्रभिषेक करने का शास्त्रीय विधान भी है।
भारतीय वैदिक परंपरा अनुसार श्रीफल शुभ, समृद्धि, सम्मान, उन्नति और सौभाग्य का सूचक माना जाता है। किसी को सम्मान देने के लिए उनी शॉल के साथ श्रीफल भी भेंट किया जाता है। भारतीय सामाजिक रीति-रिवाजों में भी शुभ शगुन के तौर पर श्रीफल भेंट करने की परंपरा युगों से चली आ रही है। विवाह की सुनिश्चित करने हेतु अर्थात तिलक के समय श्रीफल भेंट किया जाता है। बिदाई के समय नारियल व धनराशि भेंट की जाती है। यहां तक की अंतिम संस्कार के समय भी चिता के साथ नारियल जलाए जाते हैं। वैदिक अनुष्ठानों में कर्मकांड में सूखे नारियल को वेदी में होम किया जाता है।  श्रीफल कैलोरी से भरपूर होता है। इसकी तासीर ठंडी होती है। इसमें अनेक पोषक तत्व होते हैं। इसके कोमल तनों से जो रस निकलता है उसे नीरा कहते हैं उसे लज्जतदार पेय माना जाता है। सोते समय नारियल पानी पीने से नाड़ी संस्थान को बल मिलता है तथा नींद अच्छी आती है। इसके पानी में पोटेशियम और क्लोरीन होता है जो मां के दूध के समान होता है। जिन शिशुओं को दूध नहीं पचता उन्हें दूध के साथ नारियल पानी मिलाकर पिलाना चाहिए। डि-हाइड्रेशन होने पर नारियल पानी में नीबू मिलाकर पिया जाता है। इसकी गिरी खाने से कामशक्ति बढ़ती है। मिश्री संग खाने से गर्भवती स्त्री की शारीरिक दुर्बलता दूर होती है तथा बच्चा सुंदर होता है। Disclaimer: ये लेखक के अपने विचार है |कटिहार मिरर्र ऐसी पारंपरिक मान्यताओं का न तो खंडन करता है और न ही समर्थन |
Share this page
kartik Poornima

Katihar News | कार्तिक पूर्णिमा कटिहार में

कार्तिक पूर्णिमा पर राम राम का जाप शुभ माना जाता है। इसपर कटिहार में ऐसे श्रद्धालुओं ने विश्व हिंदू परिषद द्वारा कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर भगवान चौक स्थित हनुमान मंदिर में राम राम का जाप किया। [caption id="attachment_852" align="alignright" width="150"]kartik Poornima kartik Poornima [/caption]
वहीं बरारी में कार्तिक पूर्णिमा को लेकर काढा गोला घाट पर भी श्रद्धालुओं की काफी भारी भीड़ देखी गई। जिन्होंने गंगा में स्नान कर पूजा अर्चना किए। कटिहार, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज, कुरसेला आदि जगहों से सड़क मार्ग, ट्रेन से महिला व पुरुषों काढ़ा गोला गंगा पर पहुंचकर इस पवित्र गंगा पर डुबकी लगाई।
इस मौके पर कार्यक्रम का शुभारंभ परिषद के जिला अध्यक्ष राम सागर प्रसाद द्वारा किया गया। इस मौके पर वैधनाथ सिंह, रघुनाथ पोद्दार, रीता देवी, गोपाल शाह, राजकुमार, अशोक जासूस आदि लोग भी उपस्थित हुए और कटिहार के सभी लोगों को कार्तिक पूर्णिमा की हार्दिक बधाई दी।
Share this page

Katihar News | पकरिया सहजा में २५५ प्रतिमाओ की होगी पूजा

कटिहार जिले के पकरिया सहजा गाँव में एक साथ 255 प्रतिमाओं की पूजा अर्चना की जा रही है। पकरिया सहजा एक चर्चित काली मन्दिर के रूप में उभरता जा रहा है जहाँ सोने, चांदी एवं मिट्टियों की प्रतिमाओं की बड़े ही श्रद्धाभाव से पूजा की जाती है। [caption id="attachment_551" align="alignright" width="150"]Festivals at katihar Festivals at katihar[/caption]
हर साल की तरह इस साल भी यहाँ इसी तरह से लोग पूजा पाठ में लगे हैं। इस साल यहाँ 5 सोने की मूर्ति, चांदी की 167 और मिट्टी की 83 प्रतिमाओं की धूम धाम से पूजा की जा रही है। यहाँ के लोगों का कहना है कि जो भी लोग श्रद्धा भावना से यहाँ पर आकर माता के शरण में जो भी मन्नत मांगते हैं
माँ काली उनके मन्नत को अवश्य पूर्ण करती है। वर्षों से चलती आ रही परम्परा को यहाँ के लोग भी निभाते आ रहे हैं। मन्दिर के प्रांगण में एक विशाल मेले का भी आयोजन किया जाता है। शनिवार को यहाँ की कुल 255 प्रतिमाओं की विसर्जन की जायेगी।
Share this page
Ipta Katihar संगीत कार्यशाला

Katihar News कटिहार IPTA द्वारा नुक्कड़ नाटक का आयोजन

रविवार को संध्या 4 बजे कटिहार के रामपारा पेट्रोल पंप के निकट रहीम चौक मेँ नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया जाएगा। इसकी जानकारी इप्टा सचिव ने देते हुए कहा कि संस्था के कलाकारों ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है और संध्या चार बजे से यह नाटक का आयोजन किया जाएगा। [caption id="attachment_377" align="alignright" width="150"]Ipta Katihar संगीत कार्यशाला Ipta Katihar संगीत कार्यशाला[/caption]

यह आयोजन भारतीय जन नाट्य संघ ओर से किया जाएगा।
Share this page
Ganesh Mahautsav 2015Yagyashala Katihar

गणेश महोत्सव की यज्ञशाला कटिहार में तैयारी पूरी

कटिहार के यज्ञशाला मंदिर प्रांगण में श्री गणेश महोत्सव की तैयारी जोर शोर से चल रही है। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी यज्ञशाला मानस मंडल समिति एवं स्थानीय लोगों द्वारा गणेश महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।[caption id="attachment_381" align="alignright" width="150"]Ganesh Mahautsav 2015Yagyashala Katihar Ganesh Mahautsav 2015Yagyashala Katihar[/caption] इस गणेश महोत्सव कार्यक्रम की शुरुआत 16 सितम्बर को।गणेश जी की प्रतिमा के साथ नगर भ्रमण कार्यक्रम के साथ होगी ।

वहीँ 17 सितम्बर को पूजा एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, 18 एवं 19 सितम्बर को प्रातः पूजा एवं संध्या 6:30 बजे सांस्कृतिक भजन संध्या कार्यक्र एवं 20 सितम्बर को कार्यक्रम का समापन किया जायेगा ।कार्यक्रम की तैयारी यज्ञशाला मानस मंडल समिति के अध्यक्ष जय प्रकाश महतो ,भोला सह,राजू सह,अशोक महतो ,योगेश यादव,पिन्टू, सन्नी,श्रवण अग्रवाल आदि लोग शामिल थे ।
Share this page
Ipta Katihar संगीत कार्यशाला

IPTA कटिहार की संगीत कार्यशाला दुसरे दिन भी सफल

इप्टा के संगीत कार्यशाला का शुभारम्भ भारतीय नाट्य संघ एवं प्रवर रेलवे संस्थान पुसी रेल के संयुक्त तत्वावधन में शनिवार को रेलवे प्रवर संसथान में आयोजित हुआ। कार्यक्रम का शुभारम्भ इप्टा के प्रदेश अध्यक्ष कार्यशाला के मुख्य प्रशिक्षक एवं आकाशवाणी पटना के अवकाश प्राप्त लोकगायक सीताराम सिंह मुख्य संरक्षक भगत पासवान,सचिव अलोक कुमार रेलवे प्रवर संस्था के दिलीप कुमार संयुक्त सचिव राजेश कुमार इप्टा शाखा अध्यक्ष चन्दन झा सचिव मनोज कुमार दीप प्रज्जवलित कर किया ।

[caption id="attachment_377" align="alignright" width="150"]Ipta Katihar संगीत कार्यशाला Ipta Katihar संगीत कार्यशाला[/caption] इसके बाद इप्टा शाखा के सदस्यों ने उपस्थित कलाकारों एवं अथितियों कक स्वागत किया ।उदघाटन के दौरान संस्थान की छात्रा ने स्वागत गान प्रस्तुत क्र उपस्थितयो का स्वागत किया । इसके बाद कलाकारों न3 एक से बढ़कर एक संगीत प्रस्तुत कर दार्शकों से खूब तालियां बटोरी । एवं कार्यक्रम में आये मुख्य अतिथि एवं दर्शकों ने तालियों से कलाकारों को प्रोत्साहित किया । रविवार को दुसरे दिन भी संगीत कार्यशाला सफलता पूर्वक चला | कलाकारों ने संगीत की शिक्षा ली |
Share this page
Janmashtami Katihar 2015 Baniya Tola

बनिया टोला में सोमवार को मटकी फोड़

कटिहार के बनियां टोला में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर स्थापित प्रतिमा का विषर्जन सोमवार के शाम में किया गया ।इस अवसर पर पहले मटका फोड़ कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।जिसे देखनेे भाड़ी संख्या में श्रधालु की भीड़ उमड़ी ।। उसके बाद प्रतिमा का विषर्जन किया गया । प्रतिमा विषर्जन करते समय भी भाड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ थी। इसमें काफी संख्या में महिलाये भी शामिल हुई ।

[caption id="attachment_303" align="alignright" width="300"]Janmashtami Katihar 2015 Baniya Tola Janmashtami Katihar 2015 Baniya Tola[/caption] इस अवसर पर मंदिर प्रांगण में लोगों ने छोटे-छोटे दूकान भी लगाये थे । प्रतिमा को श्रद्धालूओं ने अपने कंधे पर उठाकर नाचते-गाते ,जयकारा लगाते हुए कटिहार के बनियां टोला चौक ,एम् जी.रोड ,सदर अस्पताल रोड, पॉवर हाउस रोड ,अरगड़ा चौक ,एफ सी आई चौक ,हवाई अड्डा चौक होते हुए कोसी नदी में विषर्जित किया गया ।।
Share this page
Skip to toolbar