Tagged: Electricity Bill

Power House Katihar

Katihar News |बिजली उपभोक्ताओं को दिया जा रहा है बिजली से भी जोरदार झटका

कटिहार शहर में बिजली उपभोक्ताओं को इन दिनों खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिले में बिजली उपभोक्ताओं की सुध लेने वाला कोई नही है।गौरतलब की बात है कि राजस्व देने में कटिहार जिला हमेशा से अग्रणी रहा है बावजूद इसके बिजली के मामले में कटिहार जिले को पीछे रखा गया है एवं हालात ये है कि बिजली विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को किसी तरह की सुविधा मुहैय्या नहीं कराई जाती है।[caption id="attachment_848" align="alignright" width="150"]Power House Katihar Power House Katihar [/caption]
बल्कि उल्टा बिजली विभाग द्वारा बिजली उपभोक्ताओं द्वारा इन्हें कई तरह की परेशानियों में डाल दिया जाता है। उपभोक्ताओं ने शिकायत की है कि उनके घर में मीटर रीडिंग नही लिया जाता है और बिजली विभाग द्वारा बिना मीटर रीडिंग लिए ही उन्हें मनचाहा बिजली का बिल थमा दिया जाता है जिससे उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बिजली बिल की सुधर करने हेतु उन्हें कई दफा बिजली विभाग का चक्कर लगाना पड़ता है परन्तु उनके बिजली बिल को नही सुधारा जाता है।
राजद के जिला अध्य्क्ष श्याम लाल अग्रवाल ने बताया कि अमल टोला के निवासी अशोक दोलानी गलत तरीके से हज़ारों रूपये का बिल भेज दिया गया है जबकि वे अपने घर में बिजली का उतना ज़्यादा प्रयोग नही करते हैं। बिल सुधार के लिए अभी उन्हें बिजली विभाग में दौड़ना पड़ रहा है। इसी तरह सेंट्रल बैंक के 1 कर्मचारी ने बताया कि उन्हें 2,41,111 रूपये का बिल भेज दिया गया है जो देख के उनके होश उड़ गए। और आये दिन इस तरह की घटनाएं आम बात हो गई है। ऐसे में जरूरत है जल्द से जल्द इन्हें सुधार कर बिल भेजा जाय व इन गलतियों को भविष्य में न होने दी जाये।
Share this page
Electricity bill katihar

katihar News |कटिहार में लाखो के बिजली बिल

इस बार विधुत विभाग बिजली बिल के मामले में नये नये रिकॉर्ड बना रही है। कई उपभोक्ता को तो उन्होने लाखों का बिल भेज दिया है। इससे बिजली विभाग तो नये रिकॉर्ड बन रहे है लेकिन बेचारे उपभोक्ताओं की नींद हराम हो गई है। [caption id="attachment_616" align="alignright" width="150"]Electricity bill katihar Electricity bill katihar[/caption]
वे अपना बिजली बिल के संशोधन कराने के लिये पावर हाउस के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन वहां मौजुद कर्मचारी उन्हे जांच करने का हवाला दे रहे हैं।
परेशान उपभोकताओं ने जिलाधिकरी से भी आग्रह किया है कि इस दिशा में कोई सकारात्मक कारवाई करते हुए उन्हे इस समस्या से मुक्ति दिलाये ।
Share this page
Skip to toolbar