Tagged: Feature

shilpi gargmukh katihar

कटिहार की शिल्पी गर्गमुख प्रादेशिक सेना की पहली महिला अफसर

कटिहार की अफसर बिटिया : कटिहार की अधिवक्ता की सुपुत्री शिल्पी गर्गमुख ने प्रादेशिक सेना ( टेरीटोरियल आर्मी) की पहली महिला अफसर बनने का गौरव हांसिल किया है| शिल्पी को 9 अक्टूबर को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी द्वारा सम्मानित किया जायेगा|फ़िलहाल शिल्पी ongc अंकलेश्वर में कार्यरत है| कटिहार के जवाहर नवोदय विद्यालय की २००६ की दसवी परीक्षा की topper रह चुकी हैं शिल्पी|डीपीएस बोकारो से बारहवी की परीक्षा उत्तीर्ण करके उन्होंने ने BIT सिंदरी से केमिकल्स इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री प्राप्त की| [caption id="attachment_3107" align="aligncenter" width="300"]shilpi gargmukh katihar shilpi gargmukh katihar [/caption] अपने मातापिता वाई एन तिवारी एवं रेनू तिवारी के साथ साथ इन्होने पूरे कटिहार का नाम रोशन किया है| शिल्पी के भाई सौरभ आनंद २००८ में सेना में चयनित होकर राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं|
Share this page
Pani Tanki Water Tank

कटिहार में हो रही है पानी की बर्बादी |

कटिहार (कुमार नीरज ):अप्रेल के शुरुवाती महीनो मे भीषण गर्मी पड़ने से जहा तापमान मे रिकॉर्ड तोड़ बदोतरी हुयी है वही पूरा भारत मे पानी की समस्या उत्पन्न्य हो गयी जिसमे | बिहार के कटिहार जहा जीवन दायनी गंगा बहती है अपना अस्तित्व खोने के कगार पर चली गयी है इसका मुख्य कारण पानी का बर्वाद कर दुरूपयोग करने के कारण है हो रहा है
कटिहार शहर के बीचो बीच करोड़ो रूपये की लागत से बनी PHD विभाग दुवारा जल मीनार बनाया गया था जिससे आम जानो को साफ स्वच्छ पानी मुहेया कराया जाय और लोगो को तपती गरमी मे पानी की कमी महसूस नहीं हो लेकिन विभाग आम जनो तक पानी नहीं देकर सडको पर बहने दिया जा रहा है जिसे आम जानो अरमानो पर पानी फेर रहा है
वही देश के प्रधान और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार पानी को बचने की बात करते है लेकिन PHD विभाग के किसी के अधिकारी के कान तक बात नहीं पहुची है क्यों की PHD विभाग के बगल में पानी को बर्वाद किया जा रहा है वही जब कटिहार के जिला अधिकारी से इस मामले को लेकर बात की तो उन्होंने कहा की आप लोगो के दुवारा जानकारी दीगयी है उसको जल्द ठीक करवाउगा और ग्रामीण छेत्रो मे जो जल मीनार चालू किया गया है वो सही से कामनहीं कर रहा है उसको भी ठीक करवाएगे -ललन जी जिला अधिकारी कटिहार चिलचिलाती गर्मी मे PHD विभाग दुवारा पानी की बर्वादी रोकने के लिए कितना कारगर कदम उठाती है ये तो आने वाला समय बतायेगा या योही राजनेता की तरह अधिकारी का भी बयान भर रह जायेगा |
Share this page
katihar-2016

Katihar News Feature |कैसा रहा २०१५ में कटिहार ?

कैसा रहा २०१५ में कटिहार ? कटिहार शहर में २०१५ में बहुत कुछ ऐसा हुआ जो पहले देखने को नहीं मिला | २०१५ में कटिहार में परिवर्तन ज्यादा हुए या परिवर्तन पर नज़र पैनी हो गयी लोगो की| सोशल मीडिया की बढती हुई लोकप्रियता के कारण समाचार तेज़ी से फैलने लगा | घटनाएं और दुर्घटनाये पहले भी होती थी| पर फेसबुक और व्हाट्सअप्प जैसे सोशल मीडिया के संसाधन द्वारा लोगो में समाचार तेज़ी से फैलने लगा था| अप्रैल का महिना होता था शादियों का मौसम| पर अचानक अप्रैल में लोगो के पैरो तले मानो ज़मीन सरकने लगी थी| पूरा शहर हिल गया था ज़ोरदार भूकंप के झटको से|एक बार नहीं ,बल्कि बार बार आये भूकंप के झटको ने लोगो को अन्दर तक हिला दिया था| डर लोगो में इस तरह से बस गया था कीहलकी सी अफवाह भी झकझोर कर भूकंप के डर को ताज़ा कर देती थी| पर धीरे धीरे लोग सामान्य होने लगे| भूल गए झटको को| झटके सिर्फ धरती से ही नहीं मिलते|आमतौर पर शांत से रहने वाले कटिहार में हलचल मची थी अगस्त २०१५ में|जब अचानक एक शाम दो नौजवानों के गायब होने से लोगो में असंतोष फैला था| जब एक सुबह कोशी पुल के पास एक युवक की लाश लटकती हुई मिली थी| तस्वीरे तुरंत सोशल मीडिया पर फ़ैल गयी| मृत युवक की शिनाख्त रेल कर्मी राहुल के रूप में की गयी| रितेश लापता था| जल्दी ही उसके दिल्ली में होने' की खबर आई| अफरातफरी में रितेश को दिल्ली से कटिहार बुलाया गया|[caption id="attachment_173" align="alignright" width="276"]Rahul Prasad Katihar Murder Rahul Prasad Katihar Murder[/caption]
दोस्त की हत्या का आरोप लगा| लोगो में आक्रोश और धरनों के बाद गिरफ़्तारी हुई| रितेश को कातिल मान लिया गया और उसकी सजा के लिए आन्दोलन हुए| सडको पर पहली बार शायद आन्दोलन में कैंडल मार्च भी किया गया| फेसबुक पर श्रधान्जलिया दी गयी | फिर मामला ठंडा पड़ता गया और रितेश ज़मानत पर रिहा हो गया| कई आन्दोलनकर्ताओं पर सियासत की रोटियां सेंकने के आरोप लगे | लाश जल गयी |राख ठंडी हो गयी ...और साथ ही ठंडा हो गया पूरा मामला|
लोग घटनाओ को भूल जाते है| याददाश्त ही कुछ कमज़ोर होती है भीड़ की | कुछ छोटे मोटे अपराध हुए पर अब सोशल मीडिया पर शेयर कर के लोग समीक्षा करने लगे| फिर वही होता रहा जो हमेशा होता है| एक एक करके घटनाएं हुई| हमने शेयर किया ,कठोर शब्दों में विरोध किया और फिर.........भूलते चले गए| [caption id="attachment_922" align="alignleft" width="150"]Ashok Paddar Murder Ashok Paddar Murder[/caption]
कटिहार फिर शांत सा ही था की शम्भू नायक नमक शराब व्यापारी को कुछ असामाजिक तत्वों ने धमकी दी थी | तब तक जंगलराज का नारा लगा लगा कर लोगो में अपराधियों का मनोबल ऐसे ही बढ़ा दिया था| १३ नवम्बर की रात इन अपराधियों ने सरेआम गोली मार दी शम्भू नायक को| लोगो ने फिर रास्ता जाम किया| असंतोष दर्शा कर लोग शांत हो गए | जीवन फिर से सामान्य हो गया |
पर शहीद चौक पर एक और हत्या ने फिर हिला दिया सबको| डर मन में घर रहा था| धरने शुरू हुए ,दुकाने बंद हुई| पर इस बार कातिल खुद मरने वाले की पत्नी निकली| अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसने रची थी साजिश अपने पति को मरने की| हत्या शुरू में तो उनके मास्टरप्लान के हिसाब से लूटपाट और हत्या जैसी ही लग रही थी| पर पुलिस ने मामले को जल्दी ही सुलझा लिया |
सावधान इंडिया जैसी घटनाओ ने कटिहार के नाम पर धब्बा तो लग ही गया था | लग रहा था की बहुत हो चूका अब| अब शांति आये शायद| पर सरेआम सैमसंग हेल्लो इंडिया की दुकान पर डाका पड़ गया| दिन दहाड़े गोलियां चल गयी बाज़ार में| ऐसा तो न था हमारा शहर|
क्या हुआ है इस शहर को? किसकी नज़र लग गयी इसे ? आइये २०१६ में रखे अपने कटिहार को सुरक्षित| सावधान कटिहार !!!!!!
Share this page
earthquake bihar

Katihar News Feature एक्सपर्ट्स व्यक्त करते हैं भविष्य में भूकंप की आशंका

मणिपुर में हाल ही में हुए भूकंप के बाद हिमालय के तराई वाले क्षेत्रो में भूकंप की आशंका बढ़ गयी है | MHA के एक्सपर्ट्स का कहना है की निकट भविष्य में हिमालय से सटे क्षेत्रो में 8.० के ऊपर की तीव्रता के भूकंप के झटके आ सकते हैं| पुरे उत्तर भारत पे ये खतरा मंडराता हुआ प्रतीत होता है|[caption id="attachment_1013" align="alignright" width="300"]earthquake bihar earthquake bihar[/caption] पिछले साल नेपाल में और मणिपुर,सिक्किम आदि में भूकंप आने से धरती के नीचे के प्लेट्स खिसक गए है | इस वजह से ये आशंकाएं व्यक्त की जा रही है |इससे भारत के उत्तर पूर्व ,पूर्वोत्तर बिहार में और हिमालय से सटे क्षेत्र प्रभावित हो सकते हैं | कुछ अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों का भी ऐसा मानना है कि पिछले कुछ महीनो में उत्तर भारत में आये इन भूकम्पो के कारण निकट भविष्य में 8.० के आसपास के कम से कम चार चार भूकंप आ सकते है| हालाँकि भारत के वैज्ञानिक ऐसी सभी आशंकाओं का लगातार खंडन करते हुए कहते है कि स्थिथि उतनी चिंताजनक नहीं है | बहरहाल स्तिथि जो भी हो आम जनता को भूकंपरोधी घर बनाने की एवं भूकंप के समय बरती जाने वाली सावधानियो से अवगत होना ही चाहिए
Share this page
Katihar Samchar

Katihar News Feature भाड़े पर चलती है स्कूल की छोटी एवं बड़ी गाड़ियां

स्कूल के बाद भाड़े पर चलती है स्कूल की छोटी एवं बड़ी गाड़ियां स्कूलों में चलने वाले ठेका आधारित वाहन संचालकों द्वारा स्कूल के काम के बाद उसी वाहन को सड़क परिवहन के वाहनों के रूप में प्रयोग में लाया जाता है। और इस से वाहनों के रख-रखाव में सवालिया निशान लगता है। इससे रख-रखाव व अन्य तकनीकी मेंटेनेंस समय पर पूरी नहीं होती। जिससे वाहन ऊपर वाहनों पर तकनीकी खराबी भी उत्पन्न होती है। [caption id="attachment_510" align="alignright" width="150"]Katihar Samchar Katihar Samchar [/caption]
इतना भी नहीं चुनाव एवं अन्य सरकारी गाड़ियों में भी निजी वाहनों के रूप में इन्हें प्रयोग में लाया जाता है। स्कूल के संचालक को को जबरन सरकारी कारियों में अपना वाहन भारी पर देना होता है।
करीब तीन वर्ष पहले हृदय गंज के समीप भी एक ऐसी ही घटना निजी स्कूल के विभाग बंद रिक्सा के ट्रक की चपेट में आने से दो बच्चों की तत्काल मौत हो गई थी। हाल के दिनों में शहर में बढ़ने वाले जाम एवं ट्रैफिक का ध्वस्त होना रूल इस तरह के कई घटनाओं का गवाह बना है। इनकी रक्षा एवं सुरक्षा का दायित्व इन पर ही नहीं रहता तो यह स्कूली बच्चों का क्या ख्याल रखेंगे। ऐसे समय में जरूरत है स्कूल प्रशासन द्वारा वाहनों को लेकर हो रहे दुर्घटनाओं पर चिंतन करें और वाहन चालकों पर कड़े नियमों का पालन करवाये और वाहनों के रखरखाव एवं परिचालन में ध्यान देना दे। नहीं तो ऐसी दुर्घटनाएं लगातार होती रहेंगी।
Share this page
Nav Ratri

Katihar News Feature आज से शुरु हुआ शारदीय नवरात्रि

आज से शारदीय नवरात्र शुरू हो रहा है। पुरे वर्ष किये जाने वाले पुजा कार्यक्रमो में इन शारदीय नवरात्र का विशेष महत्व है। ये नवरात्र 9 दिनो तक चलता है जिनमें मां दुर्गा के स्वरूपो की पुजा की जाती है। हांलाकि नवरात्र साल में दो बार किये जाते है। [caption id="attachment_564" align="alignright" width="150"]Nav Ratri Nav Ratri [/caption]

पहला चैती नवरात्र और दुसरा शारदीय नवरात्र, लेकिन शारदिय नवरात्र को मानने वाले श्रद्धालुओं की संख्या काफी अधिक है। आज से शुरू होने वाले इन नवरात्र के लिये शहर की सभी दुर्गामंदिरों में सारी तैयारियाँ पुरी कर ली गई है। इस नवरात्र के दौरान हजारों श्रद्धालु अपने अपने घरों में कलश की स्थापना कर 9 दिनो तक उपवास कर मां दुर्गा की उपासना करते है ।
आज नवरात्र के पहले दिन मां दुर्गा के शैलपुत्री स्वरूप की पुजा अर्चना कि जायेगी। मां दुर्गा के पहले स्वरूप शैलपुत्री को प्रकृति की देवी कहा जाता है और इस स्वरूप की पूजा अर्चना से आरोग्य की प्राप्ति होती है। शैल राज की पुत्री होने के कारण मां दुर्गा के प्रथम स्वरूप को शैलपुत्री कहा जाता गया हैं। शहर में दुर्गा पूजा को लेकर लोगों में काफी उत्सव का माहौल दिख रहा है।।
Share this page
Skip to toolbar