Tagged: Health

Polio Katihar

कटिहार में मिली पोलियो से ग्रसित बच्ची

कटिहार में पोलियों से ग्रसित बच्ची मिलने का मामला सामने आया है । बरारी प्रखंड के रौनिया गौरीडीह मुशहर टोली में एक पांच बर्षीय बच्ची सेखी कुमारी विकलांगता की शिकार हो गयी है।|बच्ची की तकलीफ देखकर उसे बरारी रेफरल अस्पताल से कटिहार रेफर कर दिया गया। कटिहार में इलाज के नाम पर बच्ची के शौच को जांच के लिए कोलकाता भेज दिया गया| 29 फरवरी को तबीयत खराब होने पर परिवार वालों ने इलाज कराया था|उसके बाद से शौच की जांच करने भेजने के बाद इस मामले में कुछ नहीं किया गया है| घर पर ही मालिश से इलाज करने की कोशिश की जा रही है|
स्वास्थ्य महकमा के वरीय अधिकारी भी मानते है कि पोलियों मुक्त होने के बाद भी एक लाख में तीन बच्चे पोलियों से ग्रसित हो सकते है। लेकिन जांच के लिए शौच भेजकर अपने कर्तव्य से मुक्त हो गये ये लोग.। और अब लकवा के प्रकार गिनाते है...। डॉं.श्यामचन्द्र झा,सिविल सर्जन,कटिहार
करोडों रुपये खर्चकर देश को पोलियों मुक्त बनाने की कवायद सालों से चल रही है|ऐसे में अगर कोई विकंलागता से ग्रसित बच्चा मिलता है तो स्वास्थ्य विभाग की उदासिनता क्यों रहती है|जिसपर विचार करने और पीडित बच्ची को समुचित इलाज की जरुरत
Share this page
Lions Club Katihar

लायंस क्लब कटिहार द्वारा बच्चो का मुफ्त स्वास्थ्य शिविर

कटिहार :लायंस क्लब कटिहार के द्वारा मुफ्त स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया | दये शिविर शरीफगंज स्थित ऍम ऍम पब्लिक स्कुल में किया गया था | शिविर में डॉ क्षितिज आनंद, डॉ कृष्णमोहन एवं डॉ सुनीता कुमारी ने लगभग 150 बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की |
Share this page
New Technique for Kala-azar preventionNew Technique for Kala-azar prevention

कटिहार में कालाजार रोकने के लिए आएगी नयी तकनीक

कटिहार में कालाजार को रोकने के लिए जिला मलेरिया पदाधिकारी की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया | बैठक में कालाजार के नियंत्रण के लिए नए तरीके से विशेष दवा के छिडकाव का फैसला लिया गया | अब ddt की जगह सिंथेटिक पायरेथ्रोईडस का इस्तेमाल किया जायेगा | छिडकाव के लिए स्टीप पंप के बदले कंप्रेसर पंप का उपयोग किया जायेगा |[caption id="attachment_1770" align="alignright" width="300"]New Technique for Kala-azar preventionNew Technique for Kala-azar prevention New Technique for Kala-azar prevention[/caption] कटिहार जिले के सभी १६ प्रखंड के १४४ पंचायतो के ३६७ गांवों में इस दवा का छिडकाव करने की योजना है |इस अभियान में १४ हज़ार ६७० किलोग्राम सिंथेटिक पायरेथ्रोईडस का छिडकाव किया जाना है
Share this page
Sadar Hospital Katihar

Katihar News | Sadar Hospital से डॉक्टर नदारद | मरीजों की भीड़ करती है इंतज़ार

कटिहार में दिनांक 17 दिसंबर को सदर अस्पताल में रोगी इंतजार करते रहे परंतु डॉक्टर लापता थे। सदर अस्पताल में कल संध्या काल में opd सेवा के क्रम में चार नंबर कक्ष में डॉक्टर के नहीं रहने से रोगियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। लोगों का कहना था कि लगातार डॉक्टर इस प्रकार से पूर्व सूचना घोषित किए बिना लापता रहते हैं जिससे रोगियों को काफी परेशानी होती है। [caption id="attachment_157" align="alignright" width="150"]Sadar Hospital Katihar Sadar Hospital Katihar [/caption]
उन्होंने कहा कि 4 नंबर वार्ड में वह डॉक्टर का इंतजार कर रहे थे परंतु शाम से रात हो गई एक भी डॉक्टर उन्हें देखने नहीं आए। तंग हो कर वे 1 नंबर कक्ष में जाकर बैठ गए। डॉक्टर के पास पहुंचे तो उनके द्वारा कक्ष संख्या 4 के सामने बैठकर डॉक्टर के इंतजार करने की बात कही गई। शाम 6 बजे तक डॉक्टर के नहीं आने पर उन्होंने अपना धैर्य खो दिया। वार्ड संख्या 4 के सामने डॉक्टर दिखाने के लिए अपने बच्चों के साथ खड़ी और अरघड़ा चौक की शबनम खातून ने कहा कि 3 बजे से डॉक्टर के आने का इंतजार कर रहे हैं। परन्तु 6 बजे तक एक भी डॉक्टर नहीं आए हैं।
अपने बच्चों को किस डॉक्टर को दिखाना है समझ में नहीं आ रहा है। लोगों का यह भी कहना था कि चार बजे डॉक्टर आएंगे इसलिए opd की संख्या 4 के सामने खड़े हैं लेकिन डॉक्टर नहीं आए। opd के चार्ज में सदर अस्पताल की कुल व्यवस्था का आलम ऐसा देखा गया कि डॉ डी एन रॉय जो सदर अस्पताल में बतौर बाल रोग विशेषज्ञ तैनात है। गुरुवार को उन्हें अस्पताल प्रबंधन की ओर से आपातकालीन सेवा सर्जिकल opd सेवा तथा बाल रोग spd सेवा के लिए तैनात किया गया था 1 नंबर कक्ष में एक डॉक्टर तैनात थे जिनके पास 30 से अधिक लोग इलाज के लिए खड़े थे।
Share this page
Skip to toolbar