Tagged: Jute Mill

Jute Mill katihar to be reopened

Katihar News कटिहार जूट मिल खुलवाने के लिए हुई पहल

कटिहार जुट मेल बंद होने से सात सौ मजदुर परिवार के सामने भुखमरी की समस्या उत्पन्य हो गयी है मजदुर दाने दाने को लेकर मोहताज हो गए है |इसके लिए जिला प्रशासन से कई वार गुहार भी लगाया नतीजा और धक के तीन पात हुआ |कटिहार संसद तारिक अनवर और मजदुर एक प्लेटफार्म पर आके मजदुर की समस्या को को समझा और और लोक सभा मे मामला उठाने और केंद्रीय मंत्री से बात करने की बात कही मिल मजदुरो की मने तो क्या लाभ मिलेगा इस तरह तरह के अस्वासन कई बार मिल चूका है वही इंटक अध्यक विकास सिंह ने खुशी जाहिर की कटिहार के संसद ने मजदूरो की समस्या को मजदूरो के सामने बैठ कर सुना और भारत सरकार से बात कर मिल जल्द खुलने की उमीद जताई
Share this page
fire at Katihar

Katihar News | विधायक Tarkishore Pd ने Jute Mill की आग के बाद लिया जायजा

बुधवार दिनांक 25 नवंबर को कटिहार के विधायक श्री तारकिशोर प्रसाद ने कटिहार के RBHM जूट मिल में जाकर बीते बीते दिनों हुए अग्नि कांड का जायजा लिया। उन्होंने जुट मिल के प्रभारी से इस विषय में बातें की। मंगलवार शाम में मिल में लगी भीषण आग में जुट मिल की चार मशीने जलकर खाक हो गई। मिल प्रबंधक जे पी राय ने उन्हें बताया कि इस कांड में लगभग 40 लाख रुपए का नुकसान हो चुका है। उन्होंने मशीनों को चालू करने को लेकर मिल प्रबंधक से बातें की। [caption id="attachment_244" align="alignright" width="150"]TarKishore Prasad TarKishore Prasad [/caption]
उन्होंने मील से संबंधित कोई कई मुद्दों में मिल प्रबंधक से विचार विमर्श किया। इस दौरान कई मजदूरों ने मजदूरी विलंब से मिलने की अपनी-अपनी शिकायतें श्री प्रसाद के सामने रखी। उनका कहना था कि मिल में वे लगातार कई वर्षों से काम करके आ रहे हैं परंतु उन्हें समय पर उनके पारिश्रमिक का भुगतान नहीं किया जाता है जिस कारण वह काफी दुखी हैं। उन्होंने इस विषय पर मिल प्रबंधक से चर्चा करने की।
वहीं मिल प्रबंधक का कहना था कि आग लगने के कारण मशीन के घर्षण की चिंगारी को बताया। उन्होंने कहा कि टिंचर मशीन के बीच घर्षण के कारण निकली आग की चिंगारी से अचानक आग लग गई। और इस दौरान पाट में आग लगने से यह आग बढ़ता चली गई। किसी तरह मजदूरों एवं दमकल के सहयोग से आग पर काबू पाया गया। जबकि आग पर पूरी तरह से बुधवार की दोपहर तक काबू पाया गया। इसमें चार प्रमुख मशीन और कुछ अन्य मशीन जलकर खाक हो गई। इन मशीनों के जलने से 10 टन उत्पादन क्षमता पर असर पर पड़ा है। आग का आकलन करने के लिए कोलकाता से आए इंसोरेंस कंपनी के सर्वाइवर पहुंचे एवं इस कांड में हुए नुकसान का आकलन किया। इसपर मिल प्रबंधक ने मिल में लगी आगजनी पर साठ लाख रूपए का बीमा क्लेम किया है।
Share this page
Skip to toolbar