कटिहार में मिली पोलियो से ग्रसित बच्ची

कटिहार में पोलियों से ग्रसित बच्ची मिलने का मामला सामने आया है । बरारी प्रखंड के रौनिया गौरीडीह मुशहर टोली में एक पांच बर्षीय बच्ची सेखी कुमारी विकलांगता की शिकार हो गयी है।|बच्ची की तकलीफ देखकर उसे बरारी रेफरल अस्पताल से कटिहार रेफर कर दिया गया। कटिहार में इलाज के नाम पर बच्ची के शौच को जांच के लिए कोलकाता भेज दिया गया| 29 फरवरी को तबीयत खराब होने पर परिवार वालों ने इलाज कराया था|उसके बाद से शौच की जांच करने भेजने के बाद इस मामले में कुछ नहीं किया गया है| घर पर ही मालिश से इलाज करने की कोशिश की जा रही है|
स्वास्थ्य महकमा के वरीय अधिकारी भी मानते है कि पोलियों मुक्त होने के बाद भी एक लाख में तीन बच्चे पोलियों से ग्रसित हो सकते है। लेकिन जांच के लिए शौच भेजकर अपने कर्तव्य से मुक्त हो गये ये लोग.। और अब लकवा के प्रकार गिनाते है...। डॉं.श्यामचन्द्र झा,सिविल सर्जन,कटिहार
करोडों रुपये खर्चकर देश को पोलियों मुक्त बनाने की कवायद सालों से चल रही है|ऐसे में अगर कोई विकंलागता से ग्रसित बच्चा मिलता है तो स्वास्थ्य विभाग की उदासिनता क्यों रहती है|जिसपर विचार करने और पीडित बच्ची को समुचित इलाज की जरुरत
Share this page