Tagged: Shambhu Nayak

most wanted arrested

मोस्ट वांटेड अपराधी मो समी पकड़ा गया |

(Kumar Neeraj):कटिहार सहित सीमांचल के जिलो का मोस्ट वांटेड मो समी आज पुलिस के गिरफ्त में आ गया।मो समी के साथ पुलिस ने तीन अपराधियो को अपराध की योजना बनते हुए गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।जिनके पास से चार ,चार देशी पिस्टल एक देशी कट्टा और भारी मात्रा में जिन्दा कारतूस बरामद किया है। गिरफ्तार अपराधी किसी बड़ी घटना को अंजाम देने कटिहार मै जमा हुए थे पुलिस ने गुप्त सुचना पर गिरफ्तार किया है।मो समी हाल में नगर में हुए शराब व्यवसायी शम्भू नायक के हत्या कांड और भारत गैस लूट कांड जैसे कई संगीन को अंजाम दिया था।साथ ही उसके ऊपर सीमंचल के सभी जिलो के थानो में हत्या,लूट और सड़क लूट के संगीन मामलो के कांड दर्ज है। जिसकी तलाश बिहार पुलिस के साथ साथ पश्चिम बंगाल और झारखण्ड पुलिस को लंबे समय से था |
Share this page
katihar-2016

Katihar News Feature |कैसा रहा २०१५ में कटिहार ?

कैसा रहा २०१५ में कटिहार ? कटिहार शहर में २०१५ में बहुत कुछ ऐसा हुआ जो पहले देखने को नहीं मिला | २०१५ में कटिहार में परिवर्तन ज्यादा हुए या परिवर्तन पर नज़र पैनी हो गयी लोगो की| सोशल मीडिया की बढती हुई लोकप्रियता के कारण समाचार तेज़ी से फैलने लगा | घटनाएं और दुर्घटनाये पहले भी होती थी| पर फेसबुक और व्हाट्सअप्प जैसे सोशल मीडिया के संसाधन द्वारा लोगो में समाचार तेज़ी से फैलने लगा था| अप्रैल का महिना होता था शादियों का मौसम| पर अचानक अप्रैल में लोगो के पैरो तले मानो ज़मीन सरकने लगी थी| पूरा शहर हिल गया था ज़ोरदार भूकंप के झटको से|एक बार नहीं ,बल्कि बार बार आये भूकंप के झटको ने लोगो को अन्दर तक हिला दिया था| डर लोगो में इस तरह से बस गया था कीहलकी सी अफवाह भी झकझोर कर भूकंप के डर को ताज़ा कर देती थी| पर धीरे धीरे लोग सामान्य होने लगे| भूल गए झटको को| झटके सिर्फ धरती से ही नहीं मिलते|आमतौर पर शांत से रहने वाले कटिहार में हलचल मची थी अगस्त २०१५ में|जब अचानक एक शाम दो नौजवानों के गायब होने से लोगो में असंतोष फैला था| जब एक सुबह कोशी पुल के पास एक युवक की लाश लटकती हुई मिली थी| तस्वीरे तुरंत सोशल मीडिया पर फ़ैल गयी| मृत युवक की शिनाख्त रेल कर्मी राहुल के रूप में की गयी| रितेश लापता था| जल्दी ही उसके दिल्ली में होने' की खबर आई| अफरातफरी में रितेश को दिल्ली से कटिहार बुलाया गया|[caption id="attachment_173" align="alignright" width="276"]Rahul Prasad Katihar Murder Rahul Prasad Katihar Murder[/caption]
दोस्त की हत्या का आरोप लगा| लोगो में आक्रोश और धरनों के बाद गिरफ़्तारी हुई| रितेश को कातिल मान लिया गया और उसकी सजा के लिए आन्दोलन हुए| सडको पर पहली बार शायद आन्दोलन में कैंडल मार्च भी किया गया| फेसबुक पर श्रधान्जलिया दी गयी | फिर मामला ठंडा पड़ता गया और रितेश ज़मानत पर रिहा हो गया| कई आन्दोलनकर्ताओं पर सियासत की रोटियां सेंकने के आरोप लगे | लाश जल गयी |राख ठंडी हो गयी ...और साथ ही ठंडा हो गया पूरा मामला|
लोग घटनाओ को भूल जाते है| याददाश्त ही कुछ कमज़ोर होती है भीड़ की | कुछ छोटे मोटे अपराध हुए पर अब सोशल मीडिया पर शेयर कर के लोग समीक्षा करने लगे| फिर वही होता रहा जो हमेशा होता है| एक एक करके घटनाएं हुई| हमने शेयर किया ,कठोर शब्दों में विरोध किया और फिर.........भूलते चले गए| [caption id="attachment_922" align="alignleft" width="150"]Ashok Paddar Murder Ashok Paddar Murder[/caption]
कटिहार फिर शांत सा ही था की शम्भू नायक नमक शराब व्यापारी को कुछ असामाजिक तत्वों ने धमकी दी थी | तब तक जंगलराज का नारा लगा लगा कर लोगो में अपराधियों का मनोबल ऐसे ही बढ़ा दिया था| १३ नवम्बर की रात इन अपराधियों ने सरेआम गोली मार दी शम्भू नायक को| लोगो ने फिर रास्ता जाम किया| असंतोष दर्शा कर लोग शांत हो गए | जीवन फिर से सामान्य हो गया |
पर शहीद चौक पर एक और हत्या ने फिर हिला दिया सबको| डर मन में घर रहा था| धरने शुरू हुए ,दुकाने बंद हुई| पर इस बार कातिल खुद मरने वाले की पत्नी निकली| अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसने रची थी साजिश अपने पति को मरने की| हत्या शुरू में तो उनके मास्टरप्लान के हिसाब से लूटपाट और हत्या जैसी ही लग रही थी| पर पुलिस ने मामले को जल्दी ही सुलझा लिया |
सावधान इंडिया जैसी घटनाओ ने कटिहार के नाम पर धब्बा तो लग ही गया था | लग रहा था की बहुत हो चूका अब| अब शांति आये शायद| पर सरेआम सैमसंग हेल्लो इंडिया की दुकान पर डाका पड़ गया| दिन दहाड़े गोलियां चल गयी बाज़ार में| ऐसा तो न था हमारा शहर|
क्या हुआ है इस शहर को? किसकी नज़र लग गयी इसे ? आइये २०१६ में रखे अपने कटिहार को सुरक्षित| सावधान कटिहार !!!!!!
Share this page
Skip to toolbar